समर्थक

शनिवार, 19 जनवरी 2013

वो बेघर इंसानियत

SwaSaSan Welcomes You...
हिन्दुस्तान  की लाड़ली 
हिन्दुस्तान की शान
हिन्दुस्तान की जान 
और हिदुस्तान की पहचान
की तरह जानी  जाने वाली 
इंसानियत 
उर्फ़ 
मानवता 
Nee 
Humanity
पिछले लम्बे समय से 
अपने घर "हिन्दुस्तान" से लापता है!
गुजारिस है हर आम-ओ-ख़ास से 
जिस किसी को भी मिले 
अपनी औलाद की मानिंद 
अपना लीजिये 
वो बेघर 
इस  अहसान के बदले 
आपको दुआओं से भी बढकर 
जादुई नेमतें देगी !!!
Founder 



(स्वप्न साकार संकल्प / संघ ) (स्वतंत्रता साकार संघ/संकल्प )
http://swasaasan.blogspot.in/2013/01/blog-post.html#links

Translate