समर्थक

Google+ Followers

Follow by Email

रविवार, 10 जुलाई 2011

ACTUAL INDEPENDENCE !!!

SwaSaSan Welcomes You...
वास्तविक आज़ादी की ओर ...
स्वसासन 
आजाद भारत के हम आजाद नागरिक
केवल मनमानी करने की आज़ादी [???]
को ही आज़ादी ना मानें !
हमारे कुछ बुनियादी अधिकार हैं तो 
कुछ आवश्यक कर्त्तव्य भी !
.
वास्तविक आज़ादी के लिए हमारा जागृत होना आवश्यक है .
स्वसासन इस दिशा में प्रयत्नशील है !
स्वसासन के सुझाव /मांगें / घोषणा पत्र 
कुछ इस तरह हैं -
.
आनलाइन वोटिंग 
.
[ ताकि व्यस्त एवं अनिच्छित वोटर भी आने वोट दे सकें !
यदि वर्तमान सरकार व्यवस्था नहीं कर सकी तो स्वसासन समर्थित सरकार अवश्य करेगी  ]
.
संविधान में आवश्यक उचित संशोधन 
.
[हमारा संविधान उच्च कोटि के प्रावधानों से परिपूर्ण तो है
किन्तु इन के कठोर परिपालन सुनिश्चित करने हेतु अभी भी कुछ सुधार  आवश्यक ]
.
सुचारू शासकीय कार्य सम्पादन  
.
प्रत्येक शासकीय /अशासकीय कार्यालय में कार्यवाही सुनिश्चित करना 
[शासकीय कर्मचारियों का एक बड़ा हिस्सा अपने वेतन को आय का मुख्य  श्रोत  नहीं मानता
ऐसे कर्मचारियों से निजात हेतु
पुलिस अदि विभागों में उचित वेतन,सुविधा, सेवा शर्तें व
  उचित कार्यसम्पादन हेतु तत्पर कर्मियों को ही सेवा लाभ ]
कुशल अधिकारी, कर्मचारी, राजनीतिज्ञ, नागरिक को
बड़े पारितोषिक  की व्यवस्था 
एवं    

भ्रष्ट / असक्षम/ या /लापरवाह  अधिकारी, कर्मचारी, राजनीतिज्ञ, नागरिक को
कड़े दंड की व्यवस्था
.
 सुलभ एवं सुनिश्चित न्याय 
.
न्यायपालिका से १००% सुनिश्चित न्याय
[हजार दोषी छूट जाएँ पर किसी निर्दोष को सजा ना हो !
को बदलकर 
'ना कोई निर्दोष सजा पाए ना कोई दोषी छूट पाए '
पर लाना ]
.
केवल इतने सुधार भी हो जाएँ तो देश दस गुनी तेजी से 
प्रगति पथ पर चल पड़े 
किन्तु बिना आप सबके जागरूक सहयोग के 
ऐसा कोई सुधार नहीं हो सकता !
इन विचारों के समर्थक 
/
नए रचनात्मक सुझावों के स्वामी 
संपर्क कर रूचि प्रदर्शित करें 
/
स्वप्न साकार संघ की सक्रिय सदस्यता लें !
प्रत्येक बिंदु पर विस्तृत अगली कड़ियों में ...

एक टिप्पणी भेजें

Translate