समर्थक

सोमवार, 19 सितंबर 2011

नीतीश कुमार , मोदी जी और अमेरिका का हम पर प्रभाव !

नीतीश कुमार , मोदी जी और अमेरिका का हम पर प्रभाव !
किसी अमेरिकी रिपोर्ट में मोदी जी को विकास का पुरोधा कहा गया है !
बस इतना काफी था हम भारत वासियों को ?
सब के सब मोदी जी को ऐसे अगले प्रधान मंत्री के रूप में देखने लगे
जो देश को भी गुजरात की तरह प्रगति पथ पर ले जाएगा !
मैं अमेरिकी एजेंसी और मोदी जी
दोनों की योग्यता पर अविश्वास का कोई कारण नहीं पाता हूँ !
किन्तु उस एजेंसी के उत्तमता घोषित करने के मापदंड उचित नहीं लगे !
क्योंकि , गुजरात आज से नहीं वर्षों पूर्व से ही व्यवसाइयों की
विशेष विचारधारा का गढ़ रहा है !
विशिष्ठ जनों की जन्मभूमि !
जिनमें गांधी जी से युग पुरुष भी थे
और अम्बानी जी से क्रांतिकारी व्यवसायी भी हुए !
गुजराती (मारवाड़ी) व्यवसायी सारे देश ही नहीं सारी दुनियां में
सफल व्यवसायी के रूप में जाने जाते हैं !
ऐसा प्रदेश यदि विकास दर में दुसरे प्रदेशों से आगे है तो
यह भी देखना होगा की बाकी देश में भी विकासदर में बढ़ोतरी जारी है !
यानी परिस्थितियाँ काफी कुछ विकास के अनुकूल निर्मित हुई हैं !
किन्तु भारत में एक ऐसा भी प्रदेश हुआ करता था
जहाँ केवल जंगल राज चलता था !
जी हाँ नीतीश से पहले का बिहार !
नीतीश जी के शासन काल में वहां जंगलराज की तस्वीर बदल कर
विकास की तस्वीर बन रही है ,
वह देखने के मापदंड थे ही नहीं अमेरिकी एजेंसी के पास !
यदि विपरीत परिस्थितियों और अन्य क्रियाकलापों को ध्यान में रखते हुए
ईमानदारी से विचार करें तो मोदी जी से पहले
सर्वप्रथम नीतीश कुमार जी का नाम लिया जाना चाहिए ,
फिर संशाधन विहीन मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज जी का
तब मोदी जी का नंबर आता है !
यह एक सुखद संयोग है की तीनों भाजपा के हैं
या भाजपा के सहयोग से पद पर हैं !

कोई टिप्पणी नहीं:

Translate